-->

मोती-चूर के लड्डू -Pearl-chop ladoos| Moti Chur Ke Laddu

मोती-चूर के लड्डू

मोती-चूर के लड्डू -Pearl-chop ladoos| Moti Chur Ke Laddu |  Ganesh Chaturthi Special Hindi Recipes


मोती-चूर के लड्डू का नाम लेते ही मुंह में पानी आना लाजमीय है, विशेष कर श्री गणेश जी को मोती चूर के लड्डू का भोग लगाया जाता है जिससे इस रेसेपी का मायना ही बदल जाता है , आइये जाने कैसे बनाये जाते है मोती चूर के लड्डू.


https://www.hindirecipeshub.in/2019/10/Pearl-chop-ladoos-Moti-Chur-Ke-Laddu-Ganesh-Chaturthi-Special-Hindi-Recipes.html

सामग्री-

आधा किलो बेसन,
 1 किलो शक्कर,
750 ग्राम घी,
गुलाब का इत्र,
4-5 बूंदें गुलाब जल,
4 ग्राम पिसी इलायची,
पीला रंग,
बारीक कटे थोड़े-से पिस्ते,
 बादाम के टुकड़े,
 केसर,
50 ग्राम सफेद बूरा
और इलायची दाने।

विधि-

बेसन को फेंट कर पोला कर लें, इसमें इतना पानी डालें कि बेसन झर में से टपक जाए। यदि
बेसन का घोल पतला होगा तो बूंदी चपटी बनेगी। इसका ध्यान रखिए कि दाना गोल निकले।
अलग एक कड़ाही में शक्कर की एक तार की चाशनी बनाकर अलग एक कटोरे में थोड़ी-सी चाशनी
रख दीजिए। गुलाब जल में पीला रंग घोलकर चाशनी में डाल दीजिए।
चाशनी तैयार होने पर आग पर कड़ाही चढ़ाएँ। घी भरा होना चाहिए। बस दो अंगुल कड़ाही खाली
रखें। घी में धुआँ निकलने पर तेज आग में ही कड़ाही के ऊपर बूंदी का झारा रखकर कटोरी से घोल
झारे पर डालें। कड़ाही के ऊपर बूंदी आते ही फौरन एक बड़ी झरनी से उतारकर चाशनी में डालती जाएँ
और एक ओर सरकाती जाएँ ताकि और बूंदी के लिए रस बचा रहे।
बूंदी निकालते समय गैस कम रखें और डालते समय तेज। इसी तरह सारी बूंदी बना लें। सब चाशनी
में डालने के बाद गुलाब का इत्र शक्कर में टपका कर अंदाज से चाशनी में डूबी हई बूंदी में मिलाएँ। पिसी
हई इलायची भी मिला दें। बूंदी के सब चाशनी सोख लेने पर कटोरे में जो आपने चाशनी बचाकर रखी
थी उसे आग पर चढ़ाकर गर्म करें। केसर घोलकर उसमें मिला दें।
फिर उसे बूंदी में मिलाकर लड्डू बनाएँ। 1 थाली में मोटा बूरा शक्कर का, पिस्ते, बादाम के टुकड़े,
इलायची मिलाकर लड्डूओं में मिला दें और लड्डू बाँध लें। ऊपर से चाँदी के वरक लगाकर लड्डुओं को।
सजा दें।

ये भी पढ़े

Post a Comment